Share

Category: Build Heritage of India

शहरकोट के 12 पोल

१- हनुमान पोल – यह पिछोला झील के दक्षिण-पूर्वी किनारे पर स्थित है, तथाजल-बुर्ज के नाम से प्रसिद्ध है। 2. राम पोल (रमणिया पोल)- यह माछला मगरा के पश्चिमी ढलान के आधार पर स्थित है। 3. किशन पोल (कृष्ण पोल) – माछला-मगरा (गन हिल) के पूर्व की तरफ दक्षिणी ओर की मुख्य सडक़ पर स्थित […]

read more

उदयपुर शहर में कई जगह ऐसी हैं जो अपने अटपटे और चटपटे नामों के लिए मशहूर हैं।

उदयपुर. । कभी आपने सोचा है कि काला गोखड़ा का नाम कैसे पड़ा, आखिर फूटा दरवाजा क्या वाकई फूटा हुआ है , ऊंटों का कारखाने में ऊंट तो नजर ही नहीं आते… ऐसे अटपटे नाम में दिन में कई बार लेते हैं और बीसियों पर वहां जाना भी होता है लेकिन नाम के पीछे का […]

read more

श्रीकेदारनाथ मंदिर एक अनसुलझी पहेली है।

श्रीकेदारनाथ मंदिर एक अनसुलझी पहेली है। श्री केदारनाथ मंदिर का निर्माण किसने करवाया था इसके बारे में बहुत कुछ कहा जाता है। पांडवों से लेकर आदि शंकराचार्य तक। लेकिन हम इसमें नहीं जाना चाहते। आज का विज्ञान बताता है कि केदारनाथ मंदिर शायद 8वीं शताब्दी में बना था। यदि आप ना भी कहते हैं, तो […]

read more

राजस्थान के 33 जिले है ! जिनके नाम क्रमशः है!

#राजस्थान के 33 जिले है !जिनके नाम क्रमशः है! गंगानगर,बीकानेर,जैसलमेर,बाडमेर,जालोर,सिरोही,उदयपुर,डूंगरपुर,बांसवाड़ा,प्रतापगढ़,चित्तौड़गढ़,झालावाड़,कोटा,बारां,सवाईमाधोपुर,करौली,धौलपुर,भरतपुर,अलवर,जयपुर,सीकर,झुंझुनू,चूरु,भीलवाड़ा,हनुमानगढ़,नागौर,जोधपुर,पाली,अजमेर,बूंदी,राजसमंद,टोंक,दौसा!! अब कृपया इन नामों को ध्यान से देखना ,क्योंकि इन नामों में एक भी मुगलों के नाम नहीं है अर्थात एक भी जिले का नाम मुगलो पर नही है!! अब मैं तुम्हे ये इस लिए बता रहा हु क्योंकि क‌ई लोग राजपूतों पर बहुत अंगुलिया […]

read more

राजा विक्रमादित्य के दरबार के नवरत्न

राजा विक्रमादित्य के दरबार के नवरत्नों के विषय में बहुत कुछ पढ़ा-देखा जाता है। लेकिन बहुत ही कम लोग ये जानते हैं कि आखिर ये नवरत्न थे कौन-कौन। उज्जयिनी के राजा विक्रमादित्य के साथ उनके नवरत्नों को जानने की जिज्ञासा सहज स्वाभाविक है।  सम्राट विक्रमादित्य के नवरत्नों के नाम धन्वंतरि, क्षपणक, अमरसिंह, शंकु, बेताल भट्ट, […]

read more
1 2